Archives

    The Wanderlust

    The Wanderlust: Ahmedabad, Gir & Diu, Part: 1

    कहते है भ्रमण भ्रम मिटाता है।

    आपके उलझे सवालों के सुलझे जवाब देता है

    It helps you come out of your vicious circle, which gives you more questions than answers. ये केवल मेरे लिए पूर्णतः निहित है या इसका एहसास सभी को है, पर मुझे भ्रमण करने पर जिंदगी जीने के कुछ और मक़सद मिल जाते हैं। मैं यह बचपन से पढ़ता आ रहा हूँ कि भारत सांस्कृतिक सम्रिध देश है, पर इसका एहसास आपको तभी होगा जब आप इस देश के एक-एक छोर, एक-एक कोने तक यात्रा करोगे।

    This is a short journey experience of Gujrat and Diu(Daman and Diu). It’s important to share your travelogue because:

    •   It gives the real insight of a journey, which one may not find on internet.
    •   It keeps memories alive. On some sad boring day, a flashback of the journey can get your spunk back.
    •   It fills your blog. 😀
    •   It will do post analysis of your journey.

    I would stop myself here, as it feels like I am filling my answer-sheet of Professional Development exam of engineering.

    हम गुजरात पहुँचे वॉल्वो बस से जो की बीकानेरहाउस दिल्ली से चलकर अहमदाबाद जाती है। यह रास्ता आपको हरियाणा से शुरू कर के राजस्थान के डूंगरपुर होते हुए गुजरात में दाखिल करवाता है। जयपुर तक का रास्ता किसी औद्योगिक क्रांति से कम ऩही है। Various new projects are blooming, one of them is Japanese Industrial Town. राजस्थान का डूंगरपुर आपको गुजरात का एहसास दिलाता है। राजस्थान की एक ख़ास बात है हर नाम से पहले श्री, आप दुकानों, बसों और बड़ी बड़ी ब्रांड्स के नाम में भी श्री लगा पाओगे।

    Continue Reading

  • Walks to remember

    Walks to Remember: Qutb-Minar!

    Walks to Remember: Qutb-Minar! Walks to Remember is a new series to aggregate my photographic experiences, which I’ve started doing every Saturday morning. I started these walks to kindle the much…

  • The Wanderlust

    The Wanderlust: Champawat(Chamba)

    I always had this exquisite feeling about Chamba, glimpses of it always traversed the corners of my mind. Pictures of high grasslands, where Gaddi moved their flocks of sheep; beautiful people…

  • Photo Essay

    पहाड़ी

    पहाड़ी Although this photo essay isn’t absolute, composite and complete representation of title Pahadi, and many more faces, icons, situations are required to completely project it, but I may say this…